Home बाइक न्यूज़ Harley-Davidson और Hero MotoCorp की साझेदारी पर लगी मुहर

Harley-Davidson और Hero MotoCorp की साझेदारी पर लगी मुहर

harley davidson motorcycle

हार्ले-डेविडसन ने अपने बाइक की सेल्स और सर्विसिंग के लिए हीरो मोटोकॉर्प के साथ साझेदारी और वितरण समझौते पर हस्ताक्षर किया है

अमेरिकी मोटरसाइकिल निर्माता कंपनी हार्ले-डेविडसन (Harley-Davidson) ने करीब दो महीने पहले एक आश्चर्यजनक फैसला करते हुए भारत में अपने कारोबार को समेटने की घोषणा की थी। इसके पीछे की वजह कंपनी की बिक्री में कमी आना था, लेकिन अब कंपनी एक बार फिर नए सिरे से भारत में प्रवेश करने की योजना बनाई है।

दरअसल अब हार्ले-डेविडसन ने हीरो मोटोकॉर्प (Hero MotoCorp’s) के साथ अपनी साझेदारी की है और इसके तहत अपनी बाइक की की बिक्री और सर्विसिंग के लिए हीरो मोटोकॉर्प के साथ साझेदारी और वितरण समझौते पर हस्ताक्षर किए है। इसके अलावा सायकल पार्ट और एक्सेसरीज बेचने के साथ-साथ ब्रांड-विशेष हार्ली-डेविडसन डीलरों और हीरो के मौजूदा नेटवर्क के माध्यम से आपने ग्राहकों को सेवा देता रहेगा।

इस बारे में कंपनी के मैनेजिंग डायरेक्टर सजीव राजशेखरन ने ने कहा है कि भारत के लिए उन्होनें अपना बिजनेस मॉडल बदल दिया है और उन्हें खुशी है कि हीरो मोटोकॉर्प के साथ मिलकर भारत में कंपनी की यात्रा जारी रखेंगे। हीरो मोटोकॉर्प के साथ मिलकर हर बारीकी पर ध्यान दे रहे हैं और ये सुनिश्चित कर रहे हैं हार्ली डेविडसन चलाने वालों को किसी पुर्जा या सर्विस आदि से जुड़ी किसी भी तरह की कोई समस्या न हो।

Hero-Xtreme-200S

कंपनी ने कहा कि वारंटी और बिक्री के बाद की सेवाएं जनवरी 2021 से दोबारा पिर से शुरू होगी, जिसके लिए कंपनी हीरो मोटोकॉर्प के साथ मिलकर काम कर रही है। ऐसे में अगर आने वाले दिनों में सब कुछ दिनों में ठीक होने वाला है। ये खबर हार्ले डेविडसन के राइडर्स के लिए राहत भरी है।

बता दें कि हार्ले डेविडसन डीलर अपना परिचालन 31 दिसंबर, 2020 तक जारी रखेंगे और बाद में नई डीलरशिप और सर्विस पॉइंट की घोषणा की जाएगी। भारत के हार्ल-डेविडसन डीलरों ने भारत में परिचालन से बाहर निकलने के अमेरिकी मोटरसाइकिल ब्रांड के फैसले को गलत बताया है।

harley davidson bike

इस फैसले को लेकर डीलरों में थोड़ी नाराजगी भी है और कहना है कि कंपनी ने उन्हें बीच मझधार में छोड़ दिया है और ऑफर किया गया मुआवजा उम्मीदों से काफी कम है। डीलरों ने यह भी शिकायत की है कि कंपनी ने उन्हें संचालन बंद करने की कोई अधिकारिक जानकारी नहीं दी, बल्कि उन्हें यह बात मीडिया रिपोर्ट के माध्यम से पता चला है।